छोड़कर सामग्री पर जाएँ
Home » 1857 में भारत पर किसका राज था?

1857 में भारत पर किसका राज था?

ब्रिटिश राज : 1857 के विद्रोह के बाद कंपनी के हाथ से भारत का शासन बिटिश राज के अंतर्गत आ गया। 1857 से लेकर 1947 तक ब्रिटेन का राज रहा। इससे पहले कंपनी ने लगभग 100 वर्षों तक भारत पर राज किया।

आजादी से पहले भारत में किसका राज था?

ब्रिटिश राज 1858 और 1947 के बीच भारतीय उपमहाद्वीप पर ब्रिटिश द्वारा शासन था

1857 की क्रान्ति के समय भारत में किसका शासन था?

इस विद्रोह का आरंभ छावनी क्षेत्रों में छोटी झड़पों तथा आगजनी से हुआ था परन्तु जनवरी मास तक इसने एक बड़ा रूप ले लिया। विद्रोह का अन्त भारत में ईस्ट इंडिया कम्पनी के शासन की समाप्ति के साथ हुआ और पूरे भारत पर ब्रिटिश ताज का प्रत्यक्ष शासन आरंभ हो गया जो अगले ९० वर्षों तक चला।

1857 से 1947 के बीच क्या हुआ था?

भारत की आज़ादी के लिए 1857 से 1947 के बीच जितने भी प्रयत्न हुए, उनमें स्वतंत्रता का सपना संजोये क्रान्तिकारियों और शहीदों की उपस्थित सबसे अधिक प्रेरणादायी सिद्ध हुई। वस्तुतः भारतीय क्रांतिकारी आंदोलन भारतीय इतिहास का स्वर्ण युग है। भारत की धरती के जितनी भक्ति और मातृ-भावना उस युग में थी, उतनी कभी नहीं रही।

भारत में 1857 को क्या हुआ था?

Indian Rebellion of 1857: 10 मई देश के लिए एक ऐतिहासिक दिन है. आज के दिन साल 1857 में उत्तर प्रदेश के मेरठ से आजादी की पहली लड़ाई की शुरुआत हुई थी. इस दिन कुछ भारतीय सैनिकों ने ब्रिटिश राज के खिलाफ विद्रोह का बिगुल फूंका था. अंग्रेजों पर हमला कर इस दिन भारतीय सैनिकों ने मेरठ पर कब्जा किया था.

भारत के प्रथम क्रांतिकारी कौन थे?

वासुदेव बलवंत फड़के का जन्म 4 नवंबर, 1845 को महाराष्ट्र के रायगड जिले के शिरढोणे गांव में हुआ था. ब्रिटिश सरकार के खिलाफ सशस्त्र विद्रोह का संगठन करने वाले फड़के भारत के पहले क्रांतिकारी थे. उन्होंने 1857 के प्रथम स्वतंत्रता संग्राम की विफलता के बाद आज़ादी के महासमर की पहली चिनगारी जलाई थी.

1857 में भारत पर किसका राज था?

1857 में पूरे भारत में शासन कर रहे मुगल साम्राज्य को ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी ने अपने पूर्ण नियंत्रण में ले लिया जब उसने राष्ट्रव्यापी सिपाही विद्रोह को सफलतापूर्वक कुचल दिया। इसके अलावा ईस्ट इंडिया कंपनी ने बाद में अंतिम मुगल शासक बहादुर शाह जफर को गिरफ्तार किया और निर्वासित कर दिया।

अंग्रेजों ने भारत पर कितने वर्ष राज किए?

भारत को आजाद हुए 70 साल से ज्यादा हो गए हैं और यह आजादी 200 साल की गुलामी के बाद मिली थी. ब्रिटेन ने इन 200 सालों में भारत को बहुत लूटा और भारत की अरबों की संपत्ति लेकर चले गए.

शायद तुम पसंद करोगे  भारत की प्रसिद्ध महिला खिलाड़ी कौन है?

1857 को हिंदी में क्या कहते हैं?

१८५७ का भारतीय विद्रोह, जिसे प्रथम भारतीय स्वतंत्रता संग्राम, सिपाही विद्रोह और भारतीय विद्रोह के नाम से भी जाना जाता है ब्रिटिश शासन के विरुद्ध एक सशस्त्र विद्रोह था।

भारत सबसे पहले किसका गुलाम था?

विस्तार: यद्दपि भारत की गुलामी की शुरुआत 1600 ई. से हो गई थी जिसमें डच, फ्रांस, पुर्तगाल, ईस्ट इंडिया कंपनी, ब्रिटिश राज सभी ने भारत के अलग अलग हिस्सों पर राज किया परन्तु केवल ब्रिटिश राज ही सम्पूर्ण भारत को गुलाम बनाने में सक्षम हुआ जो कि वर्ष 1857 से 1947 तक रहा।

अंग्रेजों का धर्म क्या है?

अंग्रेज़ इंग्लैण्ड मूल अंग्रेज़ी भाषी लोगों को कहा जाता है। पारम्परिक रूप से आंग्ल चर्चवाद लेकिन गैर नैष्ठिक भी और रोमन कैथोलिक; इसी तरह अन्य धर्मों में भी।

आजादी से पहले भारत का नाम क्या था?

भारत का प्राचीन नाम अजनाभवर्ष था। ऋषभदेव के सौ पुत्रों में सबसे बड़े पुत्र भरत के नाम पर बाद में भारतवर्ष पड़ा।

भारत का इतिहास कितना पुराना है?

भारत का इतिहास कई हजार वर्ष पुराना माना जाता है। 65,000 साल पहले, पहले आधुनिक मनुष्य, या होमो सेपियन्स, अफ्रीका से भारतीय उपमहाद्वीप में पहुँचे थे, जहाँ वे पहले विकसित हुए थे। सबसे पुराना ज्ञात आधुनिक मानव आज से लगभग 30,000 वर्ष पहले दक्षिण एशिया में रहता है।

अंग्रेज भारत क्यों आये थे?

अंग्रेजो का भारतीय उपमहाद्वीप में आगमन

24 अगस्त, 1608 को व्यापार के उद्देश्य से भारत के सूरत बंदरगाह पर अंग्रेजो का आगमन हुआ था, लेकिन 7 वर्षों के बाद सर थॉमस रो (जेम्स प्रथम के राजदूत) की अगवाई में अंग्रेजों को सूरत में कारखाना स्थापित करने के लिए शाही फरमान प्राप्त हुआ।

हमारा देश गुलाम क्यों हुआ?

अंग्रेजों ने भारत के राजा महराजाओं को भ्रष्ट करके भारत को गुलाम बनाया। उसके बाद उन्होने योजनाबद्ध तरीके से भारत में भ्रष्टाचार को बढावा दिया और भ्रष्टाचार को गुलाम बनाये रखने के प्रभावी हथियार की तरह इस्तेमाल किया।

1857 का साल क्यों प्रसिद्ध है?

कंपनी शासन का अंत: 1857 का महान विद्रोह आधुनिक भारत के इतिहास में एक ऐतिहासिक घटना था। यह विद्रोह भारत में ईस्ट इंडिया कंपनी के शासन के अंत का कारण बना।

३३ को हिंदी में क्या बोलते हैं?

33 = 33 (33)

शायद तुम पसंद करोगे  क्या बिजली लोगों पर गिरती है?

तैंतीस संख्या ३३तैंतीस वि॰ [हिं॰] दे॰ ‘तेंतीस’ । उ॰—खुसू तैंतीस जब कटे भुज बीस ।

भारत का मूर्ख राजा कौन है?

मध्यकालीन बादशाह मोहम्मद बिन तुगलक (1324-51) अपने अनेक प्रयोगधर्मी निर्णयों के कारण चर्चित रहा। उसके व्यक्तित्व की जल्दबाजी और बेसब्री की प्रवृत्ति के कारण उसे ‘बुद्धिमान मूर्ख राजा‘ कहा जाता था।

इंडिया का राजा कौन है?

उत्तर: चंद्रगुप्त मौर्य, जिन्होंने मौर्य वंश की स्थापना की और लगभग पूरे भारत पर शासन किया, वह भारत के पहले हिंदू राजा थे। यदि महाकाव्यों पर विश्वास करे तो महाभारत, जो प्राचीन संस्कृत महाकाव्य है, के अनुसार राजा दुष्यंत और शकुंतला का पुत्र भरत भारत का पहला हिंदू राजा था। प्राचीन भारत का पहला राजा कौन था?

भारत में सबसे ताकतवर राजा कौन था?

  1. 1 .समुद्रगुप्त। समुद्रगुप्त को भारत का नेपोलियन कहा जाता है. अपने पुत्र विक्रमादित्य के साथ मिलकर उन्होंने भारत के स्वर्ण युग की शुरुआत की। ये भारत के सबसे शक्तिशाली राजाओं में से एक हैं। …
  2. 2 .चन्द्रगुप्त विक्रमादित्य। चन्द्रगुप्त विक्रमादित्य गुप्तवंश के सबसे शक्तिशाली राजा कहे जाते हैं। No Internet connection.

मिठाई का राजा कौन है?

मिठाई का राजा गुलाब जामुन

भारत के 7 नाम क्या है?

प्राचीनकाल से भारतभूमि के अलग-अलग नाम रहे हैं मसलन जम्बूद्वीप, भारतखण्ड, हिमवर्ष, अजनाभवर्ष, भारतवर्ष, आर्यावर्त, हिन्द, हिन्दुस्तान और इंडिया.

भारत कितने साल गुलाम था?

मुगल राजवंश का महत्त्व: मुगल राज–वंश का भारतीय इतिहास में बहुत बड़ा महत्त्व है। इस राज–वंश ने लगभग २०० वर्षों तक भारत में शासन किया। बाबर ने १५२६ ई० में दिल्ली में मुगल–साम्राज्य की स्थापना की थी और इस वंश का अन्तिम शासक बहादुर शाह १८५८ ई० में दिल्ली के सिंहासन से हटाया गया था।

आजादी में सबसे ज्यादा योगदान किसका है?

आजाद भारत के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने आजादी की लड़ाई में बड़ा योगदान दिया था। महात्मा गांधी के साथ कंधे से कंधा मिलाकर अंग्रेजों के खिलाफ लड़े। असहयोग आंदोलन हो या नमक सत्याग्रह या फिर 1942 का भारत छोड़ो आंदोलन हो, गांधी जी के हर आंदोलन में जवाहरलाल नेहरू की भूमिका अग्रिम थी।

भारत का सबसे बड़ा सेनानी कौन है?

हम बात कर रहे हैं महान क्रांतिकारी खुदीराम बोस की. जो भारतीय स्वाधीनता के लिये मात्र 18 साल की उम्र में देश के लिये फांसी पर चढ़ने वाले सबसे कम उम्र के ज्वलन्त और युवा क्रान्तिकारी देशभक्त माने जाते हैं. साल 1908 में 11 अगस्त को आज ही के दिन ये महान क्रांतिकारी शहीद हुए थे.

भारत का पहला राजा कौन है?

भारत का पहला राजा कौन था महान शासक चंद्रगुप्त मौर्य, जिन्होंने मौर्य वंश की स्थापना की, निर्विवाद रूप से भारत के पहले राजा थे क्योंकि उन्होंने न केवल प्राचीन भारत में सभी खंडित राज्यों को जीता बल्कि उन सभी को मिला कर एक बड़ा साम्राज्य खड़ा कर दिया जिसकी सीमाएं अफगानिस्तान और फारस के किनारे तक विस्तृत थी।

शायद तुम पसंद करोगे  मौत के आखिरी घंटे में क्या होता है?

भारत कौन से देश का गुलाम था?

विस्तार: यद्दपि भारत की गुलामी की शुरुआत 1600 ई. से हो गई थी जिसमें डच, फ्रांस, पुर्तगाल, ईस्ट इंडिया कंपनी, ब्रिटिश राज सभी ने भारत के अलग अलग हिस्सों पर राज किया परन्तु केवल ब्रिटिश राज ही सम्पूर्ण भारत को गुलाम बनाने में सक्षम हुआ जो कि वर्ष 1857 से 1947 तक रहा।

79 को गणित में क्या कहते हैं?

69 को हिंदी में उनहत्तर,79 को उन्न्यासी और 89 को हिंदी में नवासी कहते है ।

88 की स्पेलिंग क्या होती है?

हिंदी गिनती 81-100
86878889
81

मिठाइयों की रानी कौन है?

बेबिंका को गोवा की मिठाइयों की रानी कहा जाता है। वास्तव में, यह केक कम पुडिंग ज्यादा है, वह भी सात परत वाला। (केक सेका जाता है और पुडिंग भाप से पकाया जाता है।) बेबिंका एक पारंपरिक भारतीय-पुर्तगाली मिठाई के रूप में गोवा में खूब चाव से खाई जाती है।

भारत देश की मिठाई कौन सी है?

सामान्य रूप से तो जलेबी सादी ही बनाई व अधिमान की जाती है, पर छेना व खोया जलेबी को भी लोग बड़़े चाव से खाते हैं। जलेबी भारत की राष्ट्रीय मिठाई हैं।

दुनिया का 1 राजा कौन है?

पृथु राजा वेन के पुत्र थे। भूमण्डल पर सर्वप्रथम सर्वांगीण रूप से राजशासन स्थापित करने के कारण उन्हें पृथ्वी का प्रथम राजा माना गया है।

भारत में सबसे अच्छा राजा कौन है?

सम्राट अशोक ( 304 BC):

अशोक महान एक ऐसे शासक थे जिनका राज्य अफगानिस्तान से लेकर बर्मा तक और कश्मीर से लेकर तमिलनाडु तक फैला हुआ था. उनकी राजधानी पाटलिपुत्र थी. अशोक को भारत के इतिहास में सबसे शक्तिशाली राजा माना जाता है.

भारत का हिंदू राजा कौन था?

यह हेमू या सम्राट हेम चंद्र विक्रमादित्य को भारत के अंतिम हिंदू सम्राट के रूप में वर्णित करता है. लोकप्रिय ऐतिहासिक संदर्भ यह भी बताते हैं कि क्यों हेमू को दिल्ली का अंतिम हिंदू शासक माना जाता था. हेमू ने 7 अक्टूबर 1556 से 5 नवंबर 1556 तक मुश्किल से एक महीने शासन किया था.