Skip to content
Home » भाषा शिक्षण में पाठ्य पुस्तक क्या है?

भाषा शिक्षण में पाठ्य पुस्तक क्या है?

भाषा प्रयोग को व्यवस्थित ढंग से कार्यान्वयन करने के लिए पाठ्यपुस्तक एक महत्वपूर्ण संसाधन है। हिंदी भाषा की पाठ्य पुस्तक एक भाषा-शिक्षक को यह समझ बनाने में सहायता करती है कि वे किस-किस प्रकार की रोचक सामग्री को एकत्र कर उनका उपयोग कर सकते हैं।

पाठ्य पुस्तक को इंग्लिश में क्या कहते हैं?

1. अपने प्रारूप के अनुसार
  • 1.1। कागज की किताबें पेपर बुक क्लासिक किताब है, जो जीवन भर की है. …
  • 1.2। इलेक्ट्रॉनिक पुस्तकें (ईबुक) …
  • 1.3। इंटरएक्टिव किताबें …
  • 2.1। गीत शैली …
  • 2.2। महाकाव्य शैली …
  • 2.3। नाटकीय शैली …
  • 3.1। विस्तारित पठन पुस्तकें
  • 3.2। संदर्भ पुस्तकें

पुस्तक कितने प्रकार के होते हैं?

अच्छी पाठ्य पुस्तक की विशेषताएं (acchi pathya pustak ki visheshta)
  • विषय-वस्तु का संगणन तार्किक तथा मनोवैज्ञानिक हो।
  • विषय वस्तु का प्रस्तुतीकरण बालकों के मानसिक स्तर के अनुरूप हो। …
  • व्याख्या स्पष्टीकरण, उदाहरणों की मदद से विषय का सरलीकरण हो।
  • भाषा-शैली में सरलता, स्पष्टता, मौलिकता तथा प्रवाहशीलता हो।

बच्चों की शिक्षा में पाठ्य पुस्तक कैसे महत्वपूर्ण है?

  1. सबसे पहले जो भाषा सीखना चाहते हैं उसके कुछ अभिवादन शब्द सीखे। इससे आपको भाषा की वर्णमाला सीखने में मदद मिलेगी।
  2. भाषा की वर्णमाला सीखे।
  3. शब्दावली सीखे।
  4. नई भाषा में गिनना सीखे।
  5. भाषा की व्याकरण के बारे में चिंतित न हो।
  6. उच्चारण पर फोकस करें।
  7. गलती करने से न घबराये।
  8. एक शब्दकोश हमेशा साथ रखें।।
शायद तुम पसंद करोगे  पुस्तकालय का कार्य और उद्देश्य क्या है?